Tag us khuda e paak

उस खुदा-ए पाक के

उस खुदा-ए पाक के  उस खुदा-ए  पाक के साए में है कितना है सुकून  वो मेरा घर है पनाह मेरी ये मै सब से कहूँ  उस पे ही तू रख उम्मीद  और उसपे ही कर ले यकीन  जाल से सैय्याद…