सिय्योन के सफर में

सिय्योन के सफर में, मेरे मन व्याकुल ना होना कभी – 2 अब्राहम का प्रभु, इसहाक का प्रभु, याकूब का प्रभु, तेरे साथ है सदा मुझे अब किसी बात की, कोई चिंता डर नहीं, जीवन की रोटी दे के, वो चलाता कुशल से मुझे, अब्राहम का… दुनिया की नजरों में मैं, भले मूर्ख गिना जाऊँ …

सिय्योन के सफर में Read More »