Tag jane akash or janti hai dhra

जाने आकाश और जानती है धरा

जाने आकाश और जानती है धरा प्यार पापी से कितना मसीह ने करा जान दी उसने तेरे लिये क्या किया तूने उसके लिये तेरे बदले में वो जो मरा तूने उसके लिये क्या करा जाने आकाश… कोड़े और ताने उसने…